मंगल की सेवा सुन मेरी देवा / Mangal Ki Seva Sun Meri Deva Lyrics in Hindi

Sharing Is Caring:

Mangal Ki Seva Sun Meri Deva Lyrics in Hindi

मंगल की सेवा सुन मेरी देवा
हाथ जोड तेरे द्वार खडे
पान सुपारी ध्वजा नारियल
ले ज्वाला तेरी भेट धरे
ले ज्वाला तेरी भेट धरे

सुन जगदम्बे ना कर विलम्बे
संतन के भडांर भरे
संतन प्रतिपाली सदा खुशहाली
जय काली कल्याण करे

(संगीत)

बुद्धि विधाता तू जग माता
मेरा कारज सिद्व करे
मेरा कारज सिद्व करे

चरण कमल का लिया आसरा
शरण तुम्हारी आन पडे
शरण तुम्हारी आन पडे

जब जब भीड पडी भक्तन पर
तब तब आय सहाय करे
संतन प्रतिपाली सदा खुशाली
जय काली कल्याण करे माँ
जय काली कल्याण करे

(संगीत)

गुरु के वार सकल जग मोहयो
तरुणी रूप अनूप धरे
तरुणी रूप अनूप धरे

माता होकर पुत्र खिलावे
कही भार्या भोग करे
कही भार्या भोग करे

शुक्र सुखदाई सदा सहाई
संत खडे जयकार करे
सन्तन प्रतिपाली सदा खुशहाली
जै काली कल्याण करे माँ
जै काली कल्याण करे

(संगीत)

ब्रह्मा विष्णु महेश फल लिये
भेट देन सब द्वार खडे
भेट देन सब द्वार खडे

अटल सिहांसन बैठी मेरी माता
सिर सोने का छत्र फिरे
सिर सोने का छत्र फिरे

वार शनिचर कुकम बरणो
जब लुंकड़ पर हुकुम करे
सन्तन प्रतिपाली सदा खुशाली
जय काली कल्याण करे माँ
जय काली कल्याण करे

(संगीत)

खड्ग खप्पर त्रिशुल हाथ लिये
रक्त बीज को भस्म करे
रक्त बीज को भस्म करे

शुम्भ निशुम्भ को क्षण में मारे
महिषासुर को पकड दले
महिषासुर को पकड दले

आदित वारी आदि भवानी
जन अपने को कष्ट हरे
संतन प्रतिपाली सदा खुशहाली
जय काली कल्याण करे माँ
जय काली कल्याण करे

(संगीत)

कुपित होकर दानव मारे
चण्डमुण्ड सब चूर करे
चण्डमुण्ड सब चूर करे

जब तुम देखी दया रूप हो
पल में सकंट दूर करे
पल में सकंट दूर करे

सौम्य स्वभाव धरयो मेरी माता
जन की अर्ज कबूल करे
सन्तन प्रतिपाली सदा खुशहाली
जय काली कल्याण करे माँ
जय काली कल्याण करे

(संगीत)

सात बार की महिमा बरनी
सब गुण कौन बखान करे
सब गुण कौन बखान करे

सिंह पीठ पर चढी भवानी
अटल भवन में राज्य करे
अटल भवन में राज्य करे

दर्शन पावे मंगल गावे
सिद्ध साधक तेरी भेट धरे
संतन प्रतिपाली सदा खुशहाली
जय काली कल्याण करे माँ
जय काली कल्याण करे

(संगीत)

ब्रह्मा वेद पढे तेरे द्वारे
शिव शंकर हरी ध्यान धरे
शिव शंकर हरी ध्यान धरे

इन्द्र कृष्ण तेरी करे आरती
चंवर कुबेर डुलाय रहे
चंवर कुबेर डुलाय रहे

जय जननी जय मात भवानी
अचल भवन में राज्य करे
संतन प्रतिपाली सदा खुशहाली
जय काली कल्याण करे माँ
जय काली कल्याण करे

मंगल की सेवा सुन मेरी देवा
हाथ जोड तेरे द्वार खडे
पान सुपारी ध्वजा नारियल
ले ज्वाला तेरी भेट धरे
ले ज्वाला तेरी भेट धरे
ले ज्वाला तेरी भेट धरे
ले ज्वाला तेरी भेट धरे

Sharing Is Caring:

I'm A Full Time Blogger o this Blog . I'm a professional website Developer in wordpress

Leave a Comment

Nulla posuere libero non elit eleifend dictum. Cras iaculis dolor neque, vestibulum mollis nisi posuere ac. Phasellus diam ex, laoreet in facilisis sit amet, suscipit in felis.